बैंगन का भरता [Baingan (Brinjal) ka bharta ]

अपडेट करने की तारीख: 8 मई 2021



बैंगन की सब्ज़ी तो हर घर में बनाई जाती है | सभी लोग अनेक तरीको से विभन्न मसालों के साथ बैग़न से बहुत व्यंजन बनाते हैं| कुछ लोगों को बैंगन नहीं पसंद आता है |बच्चे तो इसे खाना बिलकुल भी पसंद नहीं करते हैं अगर इसकी सब्जी भर्ते की तरह से बनाई जाए तो यह बहुत ही स्वदिस्ट लगती है|

तो आइये देखते है बैग़न के भरते की विधि |


सामग्री -

  • १ बड़ा साइज बैगन

  • 2 बड़ा साइज प्याज (बारीक़ कटा हुआ )

  • १ बड़ा साइज टमाटर (बारीक़ कटा हुआ )

  • जीरा -आधा चम्मच ( ½ table spoon )

  • राई -आधा चम्मच ( ½ table spoon )

  • अजवाइन -आधा चम्मच ( ½ table spoon )

  • हींग -एक चौथाई चम्मच ( ¼ table spoon )

  • तेल -३ चम्मच ( 3 table spoons )

  • नमक(स्वादानुसार )


बैंगन का भरता बनाने की विधि -

  • सबसे पहले बैंगन को धो कर एक साफ कपडे से पोंछ कर सूखा लें। और तेल लगा लें जिससे इसका छिलका आराम से निकल जायेगा।


  • गॅस पर गरम करने के लिए रखें चारों ओर से अच्छी तरह सेंक लें। अच्छे से पकने के बाद प्लेट पर उतार लें।


  • अब ठंडा होने पर इसका छिलका निकाल लें।

  • अब बैंगन को अच्छे से मसल कर एक प्लेट पर रख लें।



  • एक कढ़ाई में तेल गरम करें। अब इसमे जीरा ,राई ,हींग ,अजवाइन का तड़का लगाए।

  • खुशबू आने पैर प्याज़ डालकर गोल्डन होने तक भूनें।


  • अब टमाटर ,हरी मिर्च अदरख डालकर थोड़ा देर भूनें। नमक डालकर थोड़ा देर पकने के लिए छोड़ दें।


  • जब टमाटर गल जाए बैंगन डालकर अच्छी तरह मिला के दो मिनट पकनेके लिए ढक्क्न लगा कर छोड़ दें।

  • अब बैंगन अच्छी तरह एकसार हो जाये तो हरे धनिये से सजाएं।


  • यह लीजिए आपका स्वादिस्ट बैंगन का भरता तैयार है।

बैंगन के भरते के फ़ायदे -


इसमें अनेक औष धिय गुण पाये जाते हैं.

पोटाशियम व मैंगनीशियम होने से यह कोलेस्ट्रॉल को काम करता है।

इसमे कार्बोहइड्रेट कम और फाइबर अधिक होने से शुगर कन्ट्रोल करने में मदत मिलती है।

पाचन क्रिया अच्छी होती है।

59 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें

पालक की कढ़ी -