हल्दी वाला दूध ( Golden milk ) recipe

अपडेट करने की तारीख: 8 मई 2021



हल्दी एक ऐसा खाद्य पदार्थ है जो सभी भारतीय घरों मे रोज उपयोग मे लायी जाती है। भारत के ज्यादातर व्यंजनों मे एक मसाले के रूप मे हल्दी प्रयोग की जाती है। भारत में हल्दी को शुभ माना जाता है और अनेक धार्मिक कार्यक्रमों मे इसका उपयोग किया जाता है। इसके अलावा हल्दी अपने औषधीय गुणों की वजह से भी जानी जाती है। यहाँ पर हल्दी के इन्हीं गुणों की चर्चा की जायेगी।

हल्दी वाला दूध एक ऐसा रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने वाला पेय है जिसका हर किसी को उपयोग करना चाहिए। इसमे अनेक गुण होने की वजह से इसे गोल्डन मिल्क भी कहा जाता है.


हल्दी वाला दूध बनाने की विधि


  • बनाने में लगने वाला समय -(५ -१० मिनट )

  • एक गिलास दूध बनाने के लिए सामग्री



  1. दूध - १ गिलास

  2. हल्दी- पावडर ( एक चौथाई चम्मच /आधा इंच कच्ची हल्दी का टुकड़ा )

  3. शक्कर /शहद - एक चम्मच

  4. बादाम - २ ( बारीक पिसा हुआ ) - optional

  5. काजू - १ ( बारीक पिसा हुआ ) - optional

  6. दालचीनी - १ चुटकी भर पिसी हुई - optional

  7. कालीमिर्च - १ चुटकी भर पिसी हुई

  8. इलायची - १ चुटकी भर पिसी हुई



विधि


सबसे पहले दूध को एक पैन में उबलने के लिए रख दें। इसमे हल्दी मिला दें।

एक उबाल आने पर उसमे बादाम ,काजू,इलायची , कालीमिर्च डालकर तीन से पांच मिनट उबालें।

छन्नी से छानकर एक गिलास में निकाल लें।

दालचीनी पाउडर डालकर सजा दें।

यह आपका स्वास्थ्यवर्धक , स्वादिस्ट हल्दी वाला दूध तैयार है।




हल्दी वाले दूध के फायदे


  • यह दूध रोगप्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है।

  • त्वचा को साफ व् सुंदर बनाये रखता है।

  • शरीर से विषैले तत्वों को बाहर निकलता है।

  • शुगर लेवल को कम करके शुगर को कंट्रोल मे रखता है।

  • हड्डियां मजबूत होती है और हाथ पैरों के दर्द में आराम मिलता है।

  • इस दूध मे बादाम मिला होने की वजह से कैल्शियम और मैंग्नीशियम प्रचुर मात्रा में होता है जिससे मांसपेशिया मजबूत होती हैं।

नोट


हल्दी की तासीर गरम होने की वजह से इसे संतुलित मात्रा मे लेना चाहिए।

हल्दी का दूध रात मे लेना अधिक लाभदायक होता है।


42 दृश्य0 टिप्पणी

हाल ही के पोस्ट्स

सभी देखें